मंगलवार, जून 22, 2021

Latest Posts

मिस्टर इंडिया बनकर चोर बैंक में रोज़ करता है चोरी कोई नही पकड़ सकता ?

बैंक – जैसे ही कोई इस नाम को सुनता है वैसे ही अपने पैसे को सुरक्षित महसूस करता है मगर आपके पैसे अब बैंक में सुरिक्षत नही है क्योंकि कभी भी आपके पैसे चोरी हो सकते है और कोई सुनवाई नही ऐसा ही एक मामला नहटौर की रहने वाली नाहिद परवीन के साथ हुआ है बैंक से अनजान किसी व्यक्ति ने उसके पैसे चुरा लिया है

आज कल बैंक से डिजिटल चोरी का सिलसिला ज़ोर शोर से चल रहा है कही भी कभी भी आपके पैसे बैंक खाते से चोरी हो जाते है ऐसी खबरे अक्सर अख़बार में पड़ने को मिल जाती है आज फिर एक चोरी हुई है ज़िला बिजनौर के नहटौर में एक गरीब ने दीपावली पर मिठाई का काम करने के लिये अपने एक रिश्तेदार से 20 हज़ार रुपए उधर मागे ये कहकर की दीपावली पर मिठाई बनाकर बेचूग जो मुनाफा होगा वो में अपने बच्चों को खाने के लिए राशन ला दूँगा और आपके पैसे दीपावली के बाद वापस कर दूँगा रिश्तेदार ने कहा ठीक है में पैसे आपके खाते में भेज रहा हु आप निकल लेना उसने पैसे  बेटी के खाते में दाल दिए जब वो गरीब अपने पैसे बैंक से निकाल ने गया तो पता ये चला की खाते में पैसे ही नही है हड़बड़ा कर बेचारा गरीब बैंक जा पहुच मैनेजर से बोला कि मेरे खाते में पैसे आये थे मेने नही निकले मगर खाते में नही है मैनेजर तेज़ आवाज़ में बोला या तो आये ही नही है या तुमने ही निकले है वरना कोई तुम्हारे खाते से पैसे निकाल ही नही सकता गरीब बोला साहब में भी तो यही कह रहा हु मेने नही निकले तो मेरे पैसे कहा गए फ़ौरन मैनेजर बोला कि ये काम मेरा नही है तुम पुलिस के पास जाओ अब होता है असल खेल चालू बेचारा गरीब पुलिस के पास जाता है और पूरी बात सुनता है फिर पुलिस बैंक जा कर पूछ ताछ करती है पता चलता है कि किसी ने सहारनपुर में बैठ कर उस गरीब के पैसे निकाल लिए है उस गरीब ने पूछा साहेब वो कोन है जिसने मेरे पैसे निकाल है तो जवाब मिलता है मिस्टर इंडिया फ़िल्म का अनिल कपूर उसने पूछा मतलब तो मैनेजर साहब ने विस्तर में बताया कि कई बार ऐसे चोरी हो चुकी है आजतक पता नही चला कि चोर कोन है अब तो ये काम साइबर सेल ही कर सकती है तो फिर वो गरीब बोला साहेब अब ये कोन है मैनेजर साहब बोले पुलिस का एक महकमा गरीब खुश होकर बोला साहेब मेरे पैसे मिल जायेंगे मैनेजर साहब बोले पता नही जाकर देख लो इस तरह वो गरीब दरबदर की ठोकरे खा रहा है नतीजा कोई नही निकला अब तक इस तरहा रोज़ाना कही ना कहीं बैंक से पैसे चोरी हो जाते है मग़र कोई चोर पकड़ा नही जाता और कोई चोर पकड़ा भी जाता हो तो क्य पता अब ये गरीब अपने रिश्तेदार के पैसे कैसे वापस करेगा और अपने बच्चों को क्या खिलेगा इसका जवाब ना बैंक के पास है ना पुलिस के पास इस गरीब के पैसे कोन देगा उसे तो बैंक में खाता इस लिए खोला था कि बैंक से मेरे पैसे मेरे सिवा कोई और नही निकाल सकता मगर हुआ उल्टा उस के पैसे कोई ना दिखने वाला इंसान निकाल के ले गया क्या कोई इंसाफ मिलेगा ये सवाल हमेशा से बना हुआ
क्या कोई मुआवज़ा मिलेगा उस गरीब को समाचार मिलने तक कोई मदद नही होई पीड़ित की या हमेशा  बैंक लोगो के पैसे चोरी होने पर मौन बना रहेगा ?

Latest Posts

Don't Miss