रविवार, मई 9, 2021

Latest Posts

नशे के दल दल में फसती युवा पीढ़ी को बचाने के लिए पुलिस प्रशासन ने कसी कमर

उत्तराखंड की शांत वादियों में न केवल अपराधी.. बल्कि नशे का काला कारोबार करने वाले भी तेजी से अपने पैर जमा रहे है.. वजह है एजुकेशन हब… जहाँ देश भर के शहरों से युवा पढ़ाई के लिए आते है और इन्ही युवाओं को सॉफ्ट टारगेट बनाते है नशा तस्कर,हालाँकि सूबे को नशा मुक्त बनाने के लिए पुलिस ने भी कमर कस ली है.. जिस कड़ी में लगातार नशा तस्करों पर शिकंजा कसने की कार्यवाही भी अमल में लाई जा रही है…

विओ 1.प्रदेश भर में तेजी से अपनी जड़ें जमा रहे नशा तस्करों पर लगाम लगाने के लिए ही उत्तराखंड पुलिस ने नशे के खिलाफ कार्यवाही तेज कर दी है जिस कड़ी में देहरादून के कप्तान डीआईजी अरुण मोहन जोशी ने भी ऑपरेशन सत्य शुरू किया… इस अभियान के तहत नशा तस्करों की धरपकड़ कर नशा तस्करी और सप्लाई करने वालों की चेन तोड़ नशा मुक्त समाज बनाने की कवायद की जा रही है… इस अभियान का मकसद न केवल तस्करों को सलाखों के पीछे पहुंचना है बल्कि देश का भविष्य बनाने वाले युवाओं का उज्जवल भविष्य बनाना भी है…

राजधानी देहरादून में चलाये जा रहे ऑपरेशन सत्य की कमान संभाल रहे डीआईजी अरुण मोहन जोशी ने इस पूरे अभियान के लिए एडिशनल एसपी लोकजीत को नोडल अधिकारी बनाया है.. जिनकी देखरेख में इस अभियान के जरिये नशा तस्करों पर कमर तोड़ वार भी किया जा रहा है..वही ऑपरेशन सत्य के तहत बीते दो महीनों में न केवल नशे की तस्करी करने वालों की गिरफ्तारी की गई है.. बल्कि अभी तक 788 ऐसे युवाओं की काउंसलिंग भी करवाई जा चुकी है जो नशे की गिरफ्त में फसे हुए थे.. इसके साथ ही तस्करी में लिप्त अपराधियों के खिलाफ 165 मुकदमे दर्ज कर 176 आरोपियों को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे पहुँचाया जा चुका है

डीआईजी अरुण मोहन जोशी की माने तो ये अभियान इसी तरह से लगातार चलाया जाएगा ।।

बाईट–अरुण मोहन जोशी–डीआईजी/एसएसपी देहरादून

Latest Posts

Don't Miss