मंगलवार, जुलाई 27, 2021

Latest Posts

मुफ़्ती अब्दुल मन्ना कलीमी की कयादत मे एक मीटिंग का इनकाद किया गया

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद लाल मस्जिद मे मरकज़ी जमीयत अहलेसुन्नत की तरफ से मुफ़्ती अब्दुल मन्ना कलीमी की कयादत मे एक मीटिंग का इनकाद किया गया इस मीटिंग मे मीडिया से बातचीत करते हए मुफ़्ती मन्नान कलीमी ने कहा कि हम सुप्रीम कोर्ट का बहुत बहुत शुक्रिया अदा करते है क्योंकि सुप्रीम कोर्ट ने शिया वक़्फ़ बोर्ड के साबिक़ चेयरमैन वसीम रिज़वी की याचिका को खारिज कर उस पर ₹50,000 का जुर्माना भी लगाया है।

आपको बता दें कि शिया वक्फ बोर्ड के साबिक चेयरमैन वसीम रिजवी ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर कुरान पाक की 26 आयतो को हटाने के लिए याचिका दायर की थी जिस पर सुप्रीम कोर्ट ने इस याचिका को खारिज कर वसीम रिजवी पर 50 हज़ार का जुर्माना भी लगाया हैं।

आज रियासत उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद की लाल मस्जिद में मरकाजी जमीअत अहले सुन्नत की एक मीटिंग मुफ्ती अब्दुल मन्नान कलीमी की कयादत में की गई मीटिंग कर सुप्रीम कोर्ट का शुक्रिया अदा करते हुए कहा कि हमें अपने भारत के संविधान पर भरोसा है और हमें इंसाफ मिलेगा और हमें इंसाफ मिला हम मांग करते हैं कि ऐसे वसीम रिजवी जैसे लोगों पर कानून सख्त कार्रवाई कर उन पर मुकदमे दर्ज किए जाएं इसी के साथ ही आगे बोलते हुए कहा कि अभी डासना के एक मंदिर के पुजारी ने भी हजरत मोहम्मद सल्ला वाले वसल्लम की शान में गुस्ताखी की थी ऐसे लोगों पर भी कानूनी कार्यवाही कर इन लोगो को जेल भेजा जाए ऐसे लोग भारत की भाईचारा एकता को खत्म करना चाहते हैं।

बाइट-मुफ़्ती अब्दुल मन्नान कलीमी।

बाइट- मिर्जा मुर्तजा इकबाल/ मजलिस उलेमा ए हिन्द के प्रवक्ता।

Latest Posts

Don't Miss